Mutual Fund kya hai.
पैसे बढ़ाने के कई तरीके है। हम कई तरह से अपने पैसो को बढ़ाते है, निवेश सबसे उम्दा तरीका है अपने पैसो को बढ़ाने के लिए। हम अपने पैसो को ज़मीन, बिज़नेस , फिक्स्ड डिपॉजिट्स (FIXED DEPOSITS) में ज्यादातर निवेश करते है।

Mutual Fund kya hai

इन सब चीज़ो में निवेश से हमे उम्दा return नहीं मिलता है। हमने हमेसा यह सुना है की ज्यादा return के लिए हमे ज्यादा Risk लेना पड़ता है। share market के बारे हमने तो सुना ही हैं, और इस से जुड़ीं कई कहानिया सुनी है की कैसे लोगो ने लाखो रूपए कमाए है शेयर मार्किट में निवेश करके साथ ही हम कई बार ऐसे समाचार भी सुनते है की लोगो ने एक दिन में कई लाख रुपये गवाएं share market में हुई उथल पुथल से।

शेयर मार्किट के अलावा Mutual Funds एक दूसरा विकल्प है जिसके द्वारा हम लम्बे समय तक निवेश करके अच्छे रिटर्न्स प्राप्त कर सकते हैं। Mutual funds के बारे लोगो के मन में बहुत सारे सवाल होते हैं। कम जानकारी होने के वजह से हम mutual funds में बहुत कम invest करते है तथा कई बार हम गलत fund का चुनाव के वजह से नुक्सान का सामना करना पड़ता है।

आप इस पूरी आर्टिकल को ध्यान से अंत तक पढ़िए इस से आपके mutual फंड्स से रिलेटेड सारे सवालो का जवाब देने का कोशिश करूँगा ताकि आप अच्छे से निवेश करके अपने पैसे के इस्तेमाल से और पैसे कमा सके।

Chaliye Jaane Mutual Fund kya hai

Mutual Fund kya hai.
म्यूच्यूअल फण्ड में निवेशक अपने पैसे निवेश करते है जिसको फण्ड प्रदान करने वाली कंपनी आगे share market, गवर्नमेंट फंड्स और securities में निवेश करते हैं। ये सारे फंड्स एसेट मैनेजमेंट कंपनी के द्वारा मैनेज किए जाते हैं और वही कम्पनियां आगे आपके पैसो को विभिन्न stocks या गवर्नमेंट फंड्स में निवेश करती है। अलग अलग AMC कंपनियां अपने अपने mutual फंड्स स्कीम लांच करती है।

मूल रूप से mutual फंड्स दो प्रकार के होते हैं।
1. Schemes Based on Maturity Period (सिमित अवधी वाले स्कीम्स)
2. Based on Principal Investments (नियमित निवेश वाले फंड्स)

Schemes Based on Maturity Period (सिमित अवधी वाले स्कीम्स)

सिमित अवधी वाले mutual funds kya hai. इस तरह की स्कीम्स तीन प्रकार के होते हैं साथ ही ये सारे स्कीम्स एक सिमित अवधी के लिए होते है।
1. Open Ended Scheme
2. Close Ended Scheme
3. Interval Funds

Open Ended Scheme mutual funds kya hai

इस तरह के स्कीम्स में आप अपने फंड्स के units किसी भी समय खरीद या बेच सकते हैं। साथ ही इन स्कीम्स की कोई तय सीमा नहीं होती। बाज़ार में ज्यादातर इस किस्म के स्कीम्स मिलते हैं।

Close Ended Scheme mutual funds kya hai

इस तरह की स्कीम्स की एक तय समय सीमा होती है। इन स्कीम्स के शुरुआत में ही आप निवेश कर सकते हैं और निवेश की समय सीमा समाप्त होने के बाद आप इसमें निवेश नहीं कर सकते। इन स्कीम्स में रिटर्न्स ज्यादा भी आ सकते है साथ ही इनमे जोखिम भी ज्यादा होता है।

Interval Funds mutual funds kya hai

ये स्कीम्स open और closed स्कीम्स दोनों की कॉम्बिनेशन होती हैं। इनमे आपको तय intervals में units खरीदने बेचने का अवसर मिलता हैं साथ ही इन स्कीम्स को आप stock exchange पर भी ट्रेड कर सकते हो।

Based on Principal Investments (मूल निवेश पर आधारित स्कीम्स )

इन स्कीम्स की कुल 5 प्रकार की होती हैं। आईये जानते है मूल निवेश पर आधारित mutual funds कितने तरह के होते है और उनकी क्या विशेषता होती है।

1. Equity Schemes
2. Debt Schemes
3. Hybrid schemes
4. Solution oriented Schemes
5. Other schemes

Equity Schemes mutual funds kya hai

Mutual Fund kya hai

इस स्कीम में निवेशक का पैसा मूल्य रूप से stocks में निवेश होता है। इसकी देखरेख SEBI करती है।
SEBI जो की सरकारी संस्था है जो investment से जुड़ी चीज़ो पर नज़र रखती है साथ ही ये आश्वश्त करती है की किसी निवेशक का पैसा डूबे न। SEBI के द्वारा Equity Schemes म्यूच्यूअल फंड्स को 11 तरीको में बांटा गया है।


पहला है Large cap funds इनमे मार्किट वैल्यूएशन के हिसाब से top की 100 कंपनियां शामिल होती है। इसमें आपके निवेश का 80 प्रतिशत हिस्सा शामिल कंपनियों के stocks में निवेश होता हैं।
दूसरा Mid cap funds , मिड कैप फंड्स में टॉप 101 से 250 कंपनियां शामिल होती हैं।
तीसरा Small Cap funds, इन फंड्स में मार्किट वैल्यूएशन के हिसाब से 251 पोजीशन से आगे की कंपनियां शामिल होती हैं।

Debt schemes mutual fund kya hai

इन स्कीम्स में आपका पैसा govenment securities, corporate bonds अथवा treasury bills में निवेश होता है। इन्हे fixed income funds भी कहा जाता हैं। SEBI के द्वारा इन्हे कुल 16 प्रकार स्पस्ट किये गए हैं

पहला है overnight fund जिसकी संपूर्ण होने की अवधी सिर्फ एक दिन की होती हैं।
दूसरा हैं Liquid fund, इसमें निवेश की अवधी 91 दिनों की होती हैं।
तीसरा हैं Ultra Short Duration Funds जिसमे निवेश की अवधी तीन से छह महीनो की होती हैं।

Hybrid schemes mutual fund kya hai

hybrid schemes में आपका पैसा एक से ज्यादा चीज़ो में निवेश किया जाता है। निवेश का कुछ हिस्सा stock और कुछ हिस्सा government securities तथा अन्य दूसरे bonds या equities में निवेश होता है। इन फंड्स को Balanced Funds के नाम से भी जाना जाता हैं। SEBI के अनुशार mutual funds प्रोवाइड करने वाली कंपनी कुल 6 Hybrid schemes अपने निवेशकों को ऑफर कर सकती हैं।

अंतत mutual funds में निवेश बाज़ार के जोखिमों के अधीन होता हैं। इसीलिए निवेश करते समय हमे समझदारी से अपने मूल धन तथा returns और risk की जानकारी लेकर ही निवेश करना चाहिए। साथ ही हमे इसका भी ध्यान रखना चाहिए की अगर हमारे पास निवेश करने का अमाउंट ज्यादा है तो हम सारे पैसे एक ही scheme में न निवेश करे। अलग अलग schemes और funds में निवेश कर हम अपने return को बढ़ा सकते है साथ ही जोखिम भी कम कर सकते हैं।

हालाँकि mutual funds आपको तुरंत ज्यादा return नहीं देंगे पर लम्बे समय तक नियमित निवेश से आप बहुत अच्छा धन अर्जित कर सकते हैं साथ ही वित्तीय चिंताओं से मुक्त हो सकते हैं। Mutual funds kya hai ऐसी और जानकारियों के लिए आप हमारे पेज पर अन्य आर्टिकल भी देख सकते हैं।

मैं आशा करता हूँ की mutual funds kya hai इस से जानकारी सभी सवालो का जवाब आपको मिल गया होगा। अगर आपके मन में और भी सवाल है तो आप हमे कमेंट बॉक्स में वो सवाल पूछ सकते हैं हम आपके सवालो का जल्द ही जवाब देंगे और अगर आप किसी अन्य टॉपिक के बारे जान न चाहते है तो आप हमे सुझाव दे सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here